# छत्तीसगढ़ राज्य अलंकरण पुरस्कार – 2022 | Chhattisgarh Rajya Alankaran Puraskar 2022

Table of Contents

छत्तीसगढ़ राज्य अलंकरण पुरस्कार – 2022

छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस वर्ष 2022 के अवसर पर इस बार विभिन्न 33 विधाओं के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले विभूतियों को सम्मानित किया गया।

1. शहीद वीरनारायण सम्मान

क्षेत्र : आदिवासी एवं पिछड़ा वर्ग का उत्थान

विभाग : आदिम जाति कल्याण विभाग

छत्तीसगढ़ शासन, ने श्री नारायण मरकाम को आदिवासी समाज के लोगों में जनजागृति लाने आदिवासी समाज के गरीब बच्चों को निःशुल्क कोचिंग, जरूरतमंद व्यक्तियों को निःशुल्क ईलाज तथा समाज के लोगों को आत्मनिर्भर करने की भावना के लिए “शहीद वीरनारायण सिंह सम्मान” से सादर विभूषित किया।

2. पं. लखनलाल मिश्र सम्मान

क्षेत्र : अपराध अनुसंधान

विभाग : गृह (पुलिस) विभाग

छत्तीसगढ़ शासन, ने श्री लक्ष्मी प्रसाद मिश्र को अपराध अनुसंधान के क्षेत्र में विवेचक को उसकी उत्कृष्ट विवेचना के लिए विवेचना प्रक्रिया में पुलिस अधिकारियों के योगदान को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से राज्य शासन “पं. लखनलाल मिश्र सम्मान” से सादर विभूषित किया।

3. यति यतनलाल सम्मान

क्षेत्र : अहिंसा एवं गौ रक्षा

विभाग : सामान्य प्रशासन विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री मदन मोहन गौशाला, खरसिया को गौ-वंश के प्रति विशेष सक्रियता, गौ-धन संरक्षण को प्रतिष्ठा देने, जनमानस में गौ पालन की भारतीय संस्कृति को स्थापित करने की भावना के लिए “यति यतनलाल सम्मान” से सादर विभूषित किया।

4. गुण्डाधूर सम्मान

क्षेत्र : खेल

विभाग : खेलकूद एवं युवा कल्याण विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री अमितेश मिश्रा को खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी जो स्पीड स्कैटिंग वर्ल्ड चैम्पियनशिप 06 से 15 नवम्बर 2021 को इबागे (कोलम्बिया) में 16वां स्थान अर्जित कर खेल जगत में छत्तीसगढ़ राज्य को गौरवान्वित करने के लिए, “गुण्डाधूर सम्मान” से विभूषित किया।

5. मिनीमाता सम्मान

क्षेत्र : महिला उत्थान

विभाग : महिला एवम बाल विकास विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, डॉ. श्रीमती मीरा शुक्ला को महिला उत्थान एवं जनजागृति के क्षेत्र में तथा महिलाओं एवं बालिकाओं के सशक्तिकरण के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए “मिनीमता सम्मान” से सादर विभूषित किया।

6. गुरु घासीदास सम्मान

क्षेत्र : सामाजिक चेतना/दलित उत्थान

विभाग : आदिम जाति कल्याण विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री खेमचंद भारती को गुरू घासीदास के जीवन दर्शन को स्थापित कर सामाजिक चेतना का संचार कर सांस्कृतिक डगर से कुरीतियों को दूर करने की योगदान के लिए “गुरु घासीदास सम्मान” से सादर विभूषित किया।

7. ठाकुर प्यारेलाल सिंह सम्मान

क्षेत्र : सहकारिता

विभाग : सहकारिता विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री अशोक अग्रवाल को सहकारिता की भावना के अनुसार किसानों में बचत की स्वहित विचार धारा को पालन कराने एवं आर्थिक रूप से कमजोर, अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के लिए आर्थिक समृद्धि के लिए महत्वपूर्ण योगदान देने के महती कार्य को “ठाकुर प्यारेलाल सिंह सम्मान” से सादर विभूषित किया।

8. हाजी हसन अली सम्मान

क्षेत्र : उर्दू भाषा की सेवा

विभाग : आदिम जाति कल्याण विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, जनाब यूनुस खान को प्रदेश में उर्दू अदब के क्षेत्र में दिये गये योगदान से नई पीढ़ी को डगर दिखाने, उर्दू भाषा के प्रचार-प्रसार के लिए सदैव जागृत रहने, अपनी शेरो-शायरी, लघु कथाएं व उपन्यास आदि को उल्लेखनीय योगदान के लिए “हाजी हसन अली सम्मान” से सादर विभूषित किया।

9. पं. रविशंकर शुक्ल सम्मान

क्षेत्र : सामाजिक, आर्थिक, शैक्षणिक

विभाग : सामान्य प्रशासन विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री सीताराम अग्रवाल को पांच मंगल भवन धर्मशाला निर्माण, जिसमें सरकारी अस्पताल में इलाज कराने आने वाले मरीजों एवं उनके परिजनों को रहने, नास्ता, भोजन आदि निःशुल्क प्रदान कर आर्थिक दृष्टि से कमजोर बच्चे को पढ़ाने के लिए स्कूल व कॉलेज हेतु आर्थिक सहयोग तथा यूपीएससी एवं सीजी पीएससी हेतु सुलभता प्रदान करने के उद्यम को “पं. रविशंकर शुक्ल सम्मान” से सादर विभूषित किया।

10. पं सुन्दरलाल शर्मा सम्मान

क्षेत्र : साहित्य / आंचलिक साहित्य

विभाग : संस्कृति विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री रामेश्वर वैष्णव को छत्तीसगढ़ी भाषा में साहित्य सृजन करने, छत्तीसगढ़ी साहित्य के माध्यम से जन मानस की संवेदना को स्वर देने, विभिन्न सामयिक संदर्भों पर लिखी गई आंचलिक अस्मिता को प्रोत्साहित करने और साहित्य सृजन के अविराम प्रयासों के लिए “पं. सुंदरलाल शर्मा सम्मान” से सादर विभूषित किया।

11. चक्रधर सम्मान

क्षेत्र : संगीत एवं कला

विभाग : संस्कृति विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री वेदमणि सिंह ठाकुर (कला गुरू) को छत्तीसगढ़ी लोक संस्कृति को निरंतर आगे लाने, प्रदेश की लोक सांस्कृतिक शैलियों का प्रदर्शन, निर्देशन एवं मंचन कला एवं संस्कृति के क्षेत्र में समर्पण भाव से निरंतर योगदान करने की अहम् भूमिका के लिए “चकधर सम्मान” से सादर विभूषित किया।

12. दाऊ मंदराजी सम्मान

क्षेत्र : लोककला / शिल्प

विभाग : संस्कृति विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्रीमती जयंती यादव को छत्तीसगढ़ी लोकगीत गायिकी, लोक मंच, नाट्य गम्मत अभिनय एवं छत्तीसगढ़ी पारंपरिक लोक गाथाओं पर तथा श्री पंडित राम को छत्तीसगढ़ी शैला नृत्य एवं शिल्पकार, छत्तीसगढ़ी पारंपरिक लोक गाथाओं पर केन्द्रित गीत संगीत के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ की अस्मिता को जीवंत बनाये रखने की कोशिशों को, प्रचारित करने की लगनशील जुनून को दृढ़ मानते हुए “दाऊ मंदराजी सम्मान” से सादर विभूषित किया।

13. डॉ. खूबचंद बघेल सम्मान

क्षेत्र : कृषि

विभाग : कृषि विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री खेदू राम बंजारे को समन्वित खेती एवं कीट प्रबंधन, जैविक खेती, कृषि उत्पादों के स्थानीय स्तर पर प्रसंस्करण द्वारा मूल्य संर्वधन तथा स्थानीय आवश्यकतानुरूप कृषि उपकरण के किये गये उल्लेखनीय कार्यों हेतु “डॉ. खूबचंद बघेल सम्मान” से सादर विभूषित किया।

14. महाराजा अग्रसेन सम्मान

क्षेत्र : सामाजिक समरसता

विभाग : सामान्य प्रशासन विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री ईश्वर प्रसाद अग्रवाल को विभिन्न संस्थाओं के साथ जुड़कर जरूरतमंदो को निःशुल्क राशन, भोजन और चिकित्सा प्रदान कर जन-जन के कल्याणार्थ योगदानों को अनुकरणीय योग्य मानते हुए “महाराजा अग्रसेन सम्मान” से सादर विभूषित किया।

15. दानवीर भामाशाह सम्मान

क्षेत्र : दानशीलता, सौहार्द एवं अनुकरणीय सहायता

विभाग : समाज कल्याण विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्रीमती गंगोत्री वर्मा-भारत लाल वर्मा को दानशीलता समाज सेवा एवं सामाजिक सौहार्द्रता, निरंतर सामाजिक, शैक्षणिक, कृषि विकास एवं दानशीलता के क्षेत्र में अनुकरणीय कार्य को दृष्टिगत रखते हुए इस उत्कृष्ट कार्य के लिए “दानवीर भामाशाह सम्मान” से विभूषित किया।

16. श्रीमती बिलासाबाई केंवटीन पुरस्कार

क्षेत्र : मछली पालन

विभाग : मत्स्य विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री रूपचंद धीवर को हाईटेक एवं वैज्ञानिक तरीके से मत्स्य पालन, विकास हेतु परिपूरक आहार, माइक्रोन्यूटियेट, जैविक खाद के उत्पादन पर विशेष योगदान के लिए “श्रीमती बिलासाबाई केंवटीन पुरस्कार” से विभूषित किया।

17. संस्कृत भाषा सम्मान

क्षेत्र : संस्कृत भाषा

विभाग : उच्च शिक्षा विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, डॉ. बालकृष्ण तिवारी को देवभाषा संस्कृत के प्रति अटूट निष्ठा, अध्यापन कार्य, शोधात्मक लेख में नवीन कृतियों की रचना के साथ संस्कृत के प्रति निष्ठा को साकार करने के महती योगदान के लिए “संस्कृत भाषा सम्मान” से सादर विभूषित किया।

18. डॉ. भंवर सिंह पोर्ते सम्मान

क्षेत्र : आदिवासियों सेवा और उत्थान

विभाग : आदिम जाति कल्याण विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री टुकेश्वर कंवर को आदिवासी भाषा बोली, संस्कृति के साथ-साथ शिक्षा के लिए डिजिटलीकरण हेतु गोण्डी लिपि तैयार करना एवं गोटूल मैराथन आयोजन में उत्कृष्ट कार्य के लिए “डॉ. भंवर सिंह पोर्ते सम्मान” से सादर विभूषित किया।

19. महाराजा रामानुज प्रताप सिंहदेव पुरस्कार

क्षेत्र : श्रम

विभाग : श्रम विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, एनटीपीसी सीपत, उज्जवल नगर एनटीपीसी सीपत जिला – बिलासपुर एवं श्री पालूराम साहू को (संयुक्त रूप से) श्रम के क्षेत्र में मजदूरों की सुरक्षा एवं स्वास्थ्य हेतु कारगर उपाय करने एवं गंभीर दुर्घटना रोकने में उल्लेखनीय योगदान के लिये “महाराजा रामानुज प्रताप सिंहदेव पुरस्कार” से सादर विभूषित किया।

20. बिसाहूदास महंत पुरस्कार

क्षेत्र : बुनकर

विभाग : ग्रामोद्योग विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री आनंद देवांगन एवं श्री पदमचरण देवांगन को वर्ष 2020-21 के लिए (संयुक्त रूप से) हाथकरघा पर कोसा वस्त्र बुनाई में पारंगत, साड़ी में बॉर्डर को हाथ से एवं आचल को जाला माध्यम से उकेरने की तकनीक तथा बुनाई के इस उत्कृष्ट कार्य के लिए “बिसाहूदास महंत पुरस्कार” से सादर विभूषित किया।

एवं

श्री राजन देवांगन एवं श्री नत्थूराम देवांगन को वर्ष 2021-22 के लिए (संयुक्त रूप से) हाथकरघा पर कोसा वस्त्र बुनाई में पारंगत, साड़ी में छत्तीसगढ़ का राज्यगीत को उकेरने को जरी के तार की तकनीक से बुनाई के इस उत्कृष्ट कार्य के लिए “बिसाहूदास महंत पुरस्कार” से सादर विभूषित किया।

21. राजराजेश्वरी करुणामाता हाथकरघा प्रोत्साहन पुरस्कार

क्षेत्र : बुनकर

विभाग : ग्रामोद्योग विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री नरसिंह देवांगन एवं श्री चतुर्भज देवांगन को (संयुक्त रूप से) हाथकरघा पर वस्त्र बुनाई में पारंगत इनके द्वारा हाथकरघा पर वस्त्र बुनाई तथा पुतली डिजाईन टाई-डाई साड़ी डिजाईन, इस पुनीत उत्कृष्ट कार्य के लिए “राजराजेश्वरी करूणामाता हाथकरघा प्रोत्साहन पुरस्कार” से विभूषित किया।

22. देवदास बंजारे स्मृति पुरस्कार

क्षेत्र : प्रदर्शनकारी लोक कला

विभाग : संस्कृति विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री द्वारिका बर्मन को लोकगीत संगीत एवं उत्कृष्ट जनसेवा, छत्तीसगढ़ी लोक संस्कृति को संरक्षण, संवर्धन आदि योगदान के इन प्रयासों के लिए “देवदास बंजारे स्मृति पुरस्कार” से सादर विभूषित किया।

23. देवदास बंजारे स्मृति पंथी नृत्य पुरस्कार

क्षेत्र : लोक शैली पंथी नृत्य

विभाग : संस्कृति विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री मिलाप दास बंजारे को प्रदर्शनकारी लोक कला एवं प्रचार प्रसार, लोकगीत संगीत, लोक नृत्य एवं पंथी के माध्यम से उत्कृष्ट उद्यमों के लिए “देवदास बंजारे स्मृति पंथी नृत्य पुरस्कार” से सादर विभूषित किया।

24. किशोर साहू सम्मान

क्षेत्र : हिन्दी / छत्तीसगढ़ी सिनेमा में रचनात्मक लेखन

विभाग : निर्देशन, अभिनय, पटकथा, निर्माण संस्कृति विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री मनु नायक को हिन्दी / छत्तीसगढ़ी सिनेमा में रचनात्मक लेखन, निर्देशन, अभिनय, पटकथा, निर्माण के क्षेत्र में तथा प्रथम छत्तीसगढ़ी फिल्म निर्माण की उपलब्धि एवं कीर्तिमान विकसित करने की दृष्टि के उद्देश्य से “किशोर साहू सम्मान” से सादर विभूषित किया।

25. किशोर साहू राष्ट्रीय अलंकरण

क्षेत्र : हिन्दी / छत्तीसगढ़ी सिनेमा में निर्देशन

विभाग : संस्कृति विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री पलाश वासवानी को हिन्दी / छत्तीसगढ़ी सिनेमा में सर्वश्रेष्ठ फिल्म निर्देशन के क्षेत्र में उपलब्धि एवं कीर्तिमान विकसित करने की दृष्टि के उद्देश्य से “किशोर साहू राष्ट्रीय अलंकरण” से सादर विभूषित किया।

26. धन्वन्तरि सम्मान

क्षेत्र : आयुर्वेद चिकित्सा शिक्षा तथा शोध एवं अनुसंधान

विभाग : स्वास्थ्य विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, डॉ. मनोज चौकसे को आदिदेव धन्वन्तरि जी तथा उनके द्वारा रोग निवारण हेतु किये गये कल्याणकारी कार्यो का शोध एवं अनुसंधान के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए “धन्वन्तरि सम्मान” से विभूषित किया।

27. बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल सम्मान

क्षेत्र : विधि

विभाग : विधि विधायी विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, डॉ. प्रिया राव एवं श्री विवेक सारस्वत को (संयुक्त रूप से) विधिक साक्षरता में कानूनी सलाह, निःशुल्क कानूनी सहायता एवं शिविर, सेमीनार मामले में भाग लेने एवं कुटुम्ब न्यायालय के पारिवारिक मामलों परामर्श देने के इस उद्यम को प्रधानता देते हुए “बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल सम्मान” से विभूषित किया।

28. छत्तीसगढ़ अप्रवासी भारतीय सम्मान

क्षेत्र : देश के बाहर सामाजिक कल्याण, मानव संसाधन विकास कला, साहित्य अथवा आर्थिक योगदान

विभाग : संस्कृति विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री गणेश कर को देश के बाहर अन्य देशों में छत्तीसगढ़ी और भारतीय कला, संगीत, साहित्य एवं हिन्दी भाषा के प्रचार-प्रसार हेतु उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए “छत्तीसगढ़ अप्रवासी भारतीय सम्मान” से सादर विभूषित किया।

29. लाला जगदलपुरी साहित्य पुरस्कार

क्षेत्र : साहित्य / आंचलिक साहित्य

विभाग : संस्कृति विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री जीवन यदु को छत्तीसगढ़ी / हिन्दी भाषा में साहित्य एवं काव्य के सृजन करने, संवेदना को स्वर देने लिखी गई आंचलिक अस्मिता को प्रोत्साहित करने के अविराम प्रयासों के लिए “लाला जगदलपुरी साहित्य पुरस्कार” से सादर विभूषित किया।

30. चंदूलाल चंद्राकर स्मृति पत्रकारिता पुरस्कार

क्षेत्र : पत्रकारिता (प्रिंट मीडिया हिन्दी)

विभाग : जनसम्पर्क विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री धनंजय वर्मा को पत्रकारिता के माध्यम से प्रिंट मीडिया में राज्य की संस्कृति, समृद्धि और विकास के संबंध में रचनात्मक लेखन के लिए “चन्दूलाल चन्द्राकर स्मृति पत्रकारिता पुरस्कार” वर्ष 2022 से विभूषित किया।

31. चंदूलाल चंद्राकर स्मृति पत्रकारिता पुरस्कार

क्षेत्र : पत्रकारिता (इलेक्ट्रानिक मीडिया हिन्दी)

विभाग : जनसम्पर्क विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री अमितेष पाण्डेय एवं डॉ. वैभव शिव पाण्डेय ‘बेमेतरिहा’ को संयुक्त रूप से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया हिन्दी की पत्रकारिता के माध्यम से छत्तीसगढ़ राज्य की संस्कृति, समृद्धि और विकास पर केन्द्रित रचनात्मक लेखन के लिए “चन्दूलाल चन्द्राकर स्मृति पत्रकारिता पुरस्कार” वर्ष 2022 से विभूषित किया।

32. मधुकर खेर स्मृति पत्रकारिता पुरस्कार

क्षेत्र: पत्रकारिता (प्रिंट मीडिया अंग्रेजी)

विभाग : जनसम्पर्क विभाग

छततीसगढ़ शासन ने, डॉ. के. एन. किशोर को अंग्रेजी प्रिंट मीडिया की पत्रकारिता के माध्यम से छत्तीसगढ़ राज्य की संस्कृति, समृद्धि और विकास पर केन्द्रित रचनात्मक लेखन के लिए “मधुकर खेर स्मृति पत्रकारिता पुरस्कार” वर्ष 2022 से विभूषित किया।

33. पं. माधवराव सप्रे स्मृति राष्ट्रीय रचनात्मकता सम्मान

क्षेत्र : पत्रकारिता ( रचनात्मक लेखन एवं हिन्दी भाषा)

विभाग : जनसम्पर्क विभाग

छत्तीसगढ़ शासन ने, श्री सुदीप ठाकुर को मीडिया के क्षेत्र में अपने विशिष्ट लेखन और हिन्दी भाषा के प्रति समर्पण भाव से कार्य कर राष्ट्र का गौरव बढ़ाने के प्रयास हेतु “पंडित माधवराव सप्रे राष्ट्रीय रचनात्मकता सम्मान” वर्ष 2021 से विभूषित किया।

The premier library of general studies, current affairs, educational news with also competitive examination related syllabus.

Related Posts

# छत्तीसगढ़ राज्य के अनुसूचित क्षेत्र | Scheduled Areas of Chhattisgarh State in Hindi

भारतीय संविधान के 5वीं और 6वीं अनुसूची में उल्लेखित क्षेत्रों को अनुसूचित क्षेत्र कहा जाता हैं। पांचवीं अनुसूची में कुल 10 राज्य छत्तीसगढ़, आंध्रप्रदेश, गुजरात, हिमाचल प्रदेश,…

# छत्तीसगढ़ के प्रमुख लोक गाथा, कथाएं एवं लोक नाट्य | Folk Tales And Folk Drama of Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ के लोक संस्कृति में सृष्टि के रहस्यों से लेकर प्राचीन तत्त्वों एवं भावनाओं के दर्शन होते रहे हैं। अलौकिकता, रहस्य, रोमांच इसकी रोचकता को बढ़ाते हैं।…

# छत्तीसगढ़ के प्रमुख लोक गीत | Chhattisgarh Ke Lok Geet

छत्तीसगढ़ी लोक गीत : किसी क्षेत्र विशेष में लोक संस्कृति के विकास हेतु लोकगीत/लोकगीतों का प्रमुख योगदान होता है। इन गीतों का कोई लिपिबद्ध संग्रह नहीं होता,…

# छत्तीसगढ़ के प्रमुख लोक नृत्य | Chhattisgarh Ke Lok Nritya

छत्तीसगढ़ के प्रमुख लोक नृत्य : लोक नृत्य छत्तीसगढ़ के निवासियों की अपनी जातीय परंपरा एवं संस्कृति का परिचायक है। छत्तीसगढ़ के अनेक लोकगीतों में से कुछ…

# छत्तीसगढ़ के प्रमुख वाद्य यंत्र | Chhattisgarh Ke Vadya Yantra

छत्तीसगढ़ी लोक वाद्य यंत्र : यदि वाद्यों की उत्पत्ति को कल्पित भी माना जाए तो भी यह स्वीकार करना ही होगा कि प्रकृति के अंग-अंग में वाद्यों…

# छत्तीसगढ़ के क्षेत्रीय राजवंश | Chhattisgarh Ke Kshetriya Rajvansh

छत्तीसगढ़ के क्षेत्रीय/स्थानीय राजवंश : आधुनिक छत्तीसगढ़ प्राचीनकाल में दक्षिण कोसल के नाम से जाना जाता था। प्राचीन धार्मिक ग्रंथों में दक्षिण कोसल के शासकों का नाम…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eighteen − 7 =